Bhai Bhai Lyrics – Salman Khan

Bhai Bhai Lyrics in Hindi sung by Salman Khan, Ruhaan Arshad. The song is written by Salman Khan, Danish Sabri and music composed by Sajid Wajid. Starring Salman Khan.

सॉन्ग : Bhai Bhai
सिंगर्स : Salman Khan, Ruhaan Arshad
लिरिक्स : Salman Khan, Danish Sabri
म्यूजिक : Sajid Wajid

Bhai Bhai Lyrics in Hindi

यारों के हम तो यार हैं
सारे अपने ही त्यौहार हैं
यारों के हम तो यार हैं
सारे अपने ही त्यौहार हैं

कभी सुने हम अज़ान
कभी भजन गुन गुनाए

हिन्दू मुसलिम, हिन्दू मुसलिम
हिन्दू मुसलिम, हिन्दू मुसलिम
हिन्दू मुसलिम, हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते मिया भाई

हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते बहन भाई
हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते हिन्दू भाई
हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते नेता भाई

अरे जश्न का माहौल है
बजता नगाड़ा ढोल हैं
ईद पे दीवाली वाला डांस करेंगे

चल हाथ दे मेरे हाथ में
चलता जा मेरे साथ में
दुनिया को पीछे छोड़ के
हम आगे बढ़ेंगे

रमजान में है राम
दीवाली में हैं अली
रमजान में हैं राम
दीवाली में हैं अली
मैसेज यही पहुँचाना है
हमको गली गली

हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते मिया भाई
हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते बहन भाई

हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते हिन्दू भाई
हिन्दू मुसलिम भाई भाई
क्या बोलते नेता भाई

वो क्या है न भाई
फर्क सिर्फ “को” और “की” का है
भगवान को मानते हैं
भगवान की नहीं मानते
अल्लाह को मानते
अल्लाह की नहीं मानते
जिनको मानना नहीं चाहिए भाई
उनकी क्यूँ मानते
I just don’t understand

प्यार से दुनिया जीतेंगे सारी
नफरतों से होती बिमारी
हाथ में हाथ मिला कर देखो
हम मिल कर जीतेंगे दुनिया सारी

लड़ने का तुम्हें शौक है
चल लड़ते हैं बड़ी शान से
चल लड़ते हैं रोज़गार पे
चल लड़ते हैं कारोबार पे
चल लड़ते हैं तालीम पे

20 20 में भी प्रॉब्लम है
रोटी कपड़ा और मकान
सबको बराबर हक मिलेगा
तभी बनेगा देश महान

रमजान में है राम
दीवाली में है अली
रमजान में है राम
दीवाली में हैं अली
मैसेज यही पहुँचाना है
हमको गली गली

हिन्दू मुसलिम सिख इसाई
सब अपने भाई भाई
हिन्दू मुसलिम सिख इसाई
सब अपने भाई भाई
हिन्दू मुसलिम सिख इसाई
सब अपने भाई भाई

हिन्दू मुसलिम भाई भाई
यही’च बोलती दुनिया भाई

Yaaron ke hum to yaar hain
Saare apne hi tyohaar hain

Yaaron ke hum to yaar hain
Saare apne hi tyohaar hain
Kabhi sune hum azan
Kabhi bhajan gungunayein

Hindu muslim
Hindu muslim
Hindu muslim
Hindu muslim
Hindu muslim

Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte miyan bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte behan bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte Hindu bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte neta bhai

Arre jashn ka mahaul hai
Bajta nagada dhol hai
Eid pe Diwali wala dance karenge
Chal hath de mere hath mein
Chalta ja mere sath mein
Duniya ko peechhe chod ke
Hum aage badhenge

Ramzan mein hain Ram
Diwali mein hai Ali
Ramzan mein hain Ram
Diwali mein hai Ali
Message yehi pahunchana hai
Humko gali gali

Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte miyan bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte behan bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte Hindu bhai
Hindu muslim bhai bhai
Kya bolte neta bhai

Wo kya hai na bhai
Fark sirf “ko” aur “ki” ka hai
Bhagwan ko maante hain
Bhagwan ki nahi maante
Allah ko maante
Allah ki nahi maante
Jinko man’na nahi chahiye bhai
Unki kyun maante hain
I just don’t understand

Pyar se duniya jeetenge saari
Nafraton se hoti bimari
Hath se hath mila kar dekho
Hum mil kar jeetenge duniya saari
Ladne ka tumhe shauk hai
Chal ladte hain badi shaan se
Jab ladte hain rozgar pe
Jab ladte hain karobar pe
Jab ladte hain taleem pe

2020 mein bhi problem hai
Roti kapda aur makan
Sabko baraabar haq milega
Tabhi banega desh mahaan

Ramzan mein hain Ram
Diwali mein hai Ali
Ramzan mein hain Ram
Diwali mein hai Ali
Message yehi pahunchana hai
Humko gali gali

Hindu muslim sikh isai
Sab apne bhai bhai
Hindu muslim sikh isai
Sab apne bhai bhai
Hindu muslim sikh isai
Sab apne bhai bhai
Hindu muslim bhai bhai
Yehi ch bolti duniya bhai

Leave a Comment